sad poetry for lover | Page 2 of 2 | GeoNewsTV

Girlfriend shayari sad-Sad poetry-Sad poetry for lover-Sad poetry of love

AZEYATON KE TAMAM NASHTAR MERI RAGON MAIN UTAR KR WO BARI MUHABBAT SE POCHTA HAI TUMHARI ANKHON KO KIYA HOWA HAI अज़यतों के तमाम नश्तर मेरी रगों मैं उतर कर वो बरी मुहब्बत से पूछता है तुम्हारी आँखों को किया हुआ है    

Read more

Sad poetry love-Sad poetry lover-Sad poetry urdu-Sad poetry in urdu

TEHREER MAIN SIMATTE KAHAN HAIN DILON KE DARD BEHLA RAHY HAIN KHUD KO ZARA KAGHZON KE SATH   तहरीर में सिमटते कहाँ हैं दिलों के दर्द बहला रही हैं खुद को ज़रा काग़ज़ों के साथ

Read more